विज्ञान, प्रौद्योगिकी एवं प्रबंधन पर आधारित नवपरिवर्तन द्वारा खादी एवं वस्त्र विभाग की समस्याओं को समझना एवं उनमें सुधार करना | खादी विभाग के संक्रियात्मक उद्देश्य:-

  • खादी से संबंधित संस्थानों में नाभिकेंद्र के रूप में जालतंत्र (नेटवर्क) तैयार करना |
  • विकेंद्रीकृत विभिन्न खादीप्रक्रिया के लिए सुयोग्य मशीनों को विकसित करना |
  • उत्पाद-संरचना तथा विकास हेतु अतिरिक्त मूल्यवर्धन को लेकर परामर्श देना ताकि खादी के बाजार में वृद्धि हो |
  • खादी क्षेत्र में गुणवत्ता-मानदंड, गुणवत्ता परीक्षण जालतंत्र (नेटवर्क) एवं गुणवत्ता-परामर्श पद्धतियों में बढ़ोतरी कर, प्रौद्योगिकी का प्रचार-प्रसार किया जा रहा है ताकि प्रौद्योगिकी हस्तांतरण करने योग्य नमूने तैयार किए जा सके |