उद्देश्य :

1) ग्रामीण उद्यमियों के लिए रासायनिक उत्पादों के क्षेत्रों में और उसकी उतपादन प्रक्रिया में विकासात्मक मार्गदर्शन एवं सहायता प्रदान करना तथा ग्रामीण उद्यमियों को विज्ञान व प्रौद्योगिकी के सीमांत क्षेत्रों से जोड़ना |
2) गुणवत्ता- परीक्षण एवं गुणवत्ता – परामर्श देने हेतु नवीनतम आयामों द्वारा ग्रामीण उद्यमियों के उत्पाद/ प्रसंस्करण को वैश्विक स्तर पर प्रतिस्पर्धी बनाना | विशेषकर दूर-दराज स्थित ग्रामीण उद्योगों के लिए गृह स्तरीय गुणवत्ता परीक्षण पेटी(किट) विकसित करना |
3) ग्रामीण/कृषि संसाधनों पर आधारित तकनीक एवं संपोषित प्रक्रम विकसित करना | एक उद्यम विकास से ग्रामीण लोगों को मूलभूत आवश्यकताओं, जैसे-पीने के पानी की पूर्ति हेतु दक्ष बनाना और वहनीय मूल्य पर उपलब्ध करवाना |

chemicalmas12

कार्य :
1) आदर्श उद्यमों का विकास:

कम लागत वाली अरसायनिक संरक्षण एवं पैकिंग विधि/ तकनीकी विकसित करना |
संभाव्य उपयोग वाले कृषि उत्पन्न रसायनों की पहचान करना, अर्क निकालना, अलगाव एवं शुद्धिकरण करना |
शुद्ध तकनीकों द्वारा कच्ची सामग्री का पुनः सदुपयोग से संबंधित उद्यम विकास | (शुद्ध विकास प्रक्रिया परियोजना)
रसायन से संबंधित क्षेत्र में सूक्ष्म एवं लघु उद्यम के लिए विविध योजनाओं का विकास करना | ( ग्रामीण संसाधनों/बाजार पर निर्भर रहनेवाले उद्योगों को प्रकाश में लाना)
ग्रामीण रसायन उद्योगों से जुड़े संबंधित पर्यावरण संबंधी प्रभाव का निर्धारण करना |
ग्रामीण क्षेत्रों में सूक्ष्म एवं लघु उद्यमों के लिए उचित प्रक्रियाओं और कारखाने की संरचना का अनुमाप निर्धारण करना |

2) परीक्षण सुविधाएं :

रासायनिक ग्रामोद्योग विभाग में एक आधुनिक उपकरणों वाली परीक्षण प्रयोगशाला है, जो ग्रामीण उत्पादों एवं प्रक्रियाओं को विश्व स्तरीय मानक प्राप्त करने में मदद करती है |
इस अनुभाग में मुख्य उपकरण, जैसे – हाय पहाय परफॉर्मंन्स लिक्विड क्रोमैटोग्राफ (HPLC),गैस क्रोमैटोग्राफ (G.C.),एटॉमिक एबजार्प्सन स्पेक्ट्रोफोटोमीटर (AAS), यू-वी-विजिबल स्पेक्ट्रोफोटोमीटर, हाय परफॉर्मंन्स थिन लेयर क्रोमैटोग्राफ (HPTLC) , टिंटोमीटर , पोलॅरिमीटर आदि उपलब्ध हैं ।
राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय बाजार के हमारे ग्राहकों को मान्यताप्राप्त/ विश्वसनीय परीक्षण सेवाएँ प्रदान करता है, एमगिरि की ‘गुणवत्ता नियंत्रण प्रयोगशाला’अधिकृत होने की प्रक्रिया में है, जो राष्ट्रीय परीक्षण और असंशोधन प्रयोगशाला प्रत्यायन बोर्ड (नेशनल अॅक्रिडेशन बोर्ड फॉर टेस्टिंग एंड कैलिब्रेशन लैबोरेटरी) (NABL), नई दिल्ली के अंतर्गत होने वाली है |

इस अनुभाग द्वारा निम्नांकित वस्तुओं का परीक्षण होता है :-

विविध दाल के प्रकार, मसाले,तेल व वसा, जैविक खाद्य, शहद, पानी प्रसंकृत खाद्य पदार्थ, सुगंध-आवश्यक तेल व वसा, शक्कर, विटामिन, प्रोटीन, खाद्य-संरक्षक तत्व, दवा, रोगप्रतिकार घटक, अमीनो एसिड, जैविक अम्ल, इत्यादि
साबुन, शॅम्पु, कपड़े धोने के पाउडर, पानी, मिट्टी इत्यादि
जंतुनाशक अवशेष व अवशिष्ठ धातु (विशेषकर जड़ वस्तुएं)
विषाक्त्तता की द्रुष्टिकोण से शुद्ध जल एवं मिट्टी का परीक्षण |

3) प्रशिक्षण :-

यह अनुभाग उद्यमियों को प्रशिक्षित करता है तथा प्रशिक्षणार्थी को ग्रामीण क्षेत्र में उद्योग के चयन हेतु परामर्श देता है और गुणवत्ता-प्रबंधन करने में उसकी मदद करता है |
‘संपूर्ण गुणवत्ता प्रबंधन’ (TQM) के अंतर्गत प्रशिक्षक के प्रशिक्षण तथा उससे संबंधित मुद्दों की जानकारी भी देता है | उद्योजकों एवं महाविद्यालयीन व विश्वविद्यालयीन स्तर के पाठ्यक्रमों के अंतर्गत विशिष्ट औद्योगिक अभ्यास के तहत प्रशिक्षण उपलब्ध किया जाता है तथा विद्याथियों की औद्योगिक परियोजनाओं के अनुसार उदयोजकता संबंधी महत्वपूर्ण आधुनिक सुविधाओं को प्रदान करने में मदद करता है |

4) परामर्श:-

उद्योग की आवश्यकतानुसार नए उत्पाद का विकास तथा उन्हें सूत्रबद्ध करता है |
रसायनिक निर्माण उद्योगों के लिए गुणवत्ता – नियंत्रण में मार्गदर्शन करता है तथा प्रयोगशाला की स्थापना हेतु परामर्श भी देता है |
कारखानों को यथोचित निस्सारी उपचार की विधि प्रदान करने में मदद करता है एवं उसकी संरचना प्रारूप भी प्रदान करता है |

5) नीति एवं नियोजन :-

इस अनुभाग के अंतर्गत निम्नांकित परियोजनाएँ पूर्ण की जाती है :-

ग्रामीण औद्योगिकीकरण के लिए गुणवत्ता-नियंत्रण व्यूहरचना को सूत्रबद्ध करना |
ग्रामीण भागों में सटीक एवं यथोचित रसायनिक उद्योगों को स्थापित करने के लिए योजना तैयार करना |
औद्योगिक योजनाओं को प्रारंभ करना तथा उन योजनाओं को कार्यान्वित करने में सरकार की सहायता करना |

chemical-team